14 बच्चों और 49 नाती-पोतों वाले मुख़्तार ने फिर किया निकाह, तुम भरते रहो टैक्स

अब भले ही आप इसे कुछ भी कहे, पर अब खुलकर बात हर विषय पर होनी चाहिए, क्यूंकि देश में जनसँख्या अब एक गंभीर समस्या बन चुकी है, और ये कदाचित आतंकवाद से भी बड़ी समस्या है, पाकिस्तान और चीन से भी बड़ी समस्या है

भारत में एक समुदाय अपनी जनसँख्या को दशको से तेजी से बढ़ा रहा है, सेकुलरिज्म के चलते इसपर लोग खुलकर बात नहीं करते, पर हर 10 साल में जनसँख्या की गिनती होती है और कई दशको से एक चीज हर बार सामने आती है की मुस्लिम समुदाय सबसे तेजी से संख्या को बढ़ा रहा है

मुस्लिम समुदाय के लोग ज्यादा बच्चे कर रहे है, और कई कई बच्चे होने के बाद भी और बच्चे करते है, जभी भी देश में जनसँख्या नियंत्रण की बात होती है तो देश के सेक्युलर और मुस्लिम नेता इसे मुस्लिम विरोधी मुद्दा बता देते है, जबकि जनसँख्या नियंत्रण कोई धर्म के आधार पर करने की बात नहीं होती, सबके लिए हम 2 हमारे 2 के नियम की बात होती है

अब इसी जनसँख्या विस्फोट की चर्चा के बाद एक नयी खबर राजस्थान से सामने आ रही है जहाँ पर 66 साल के मुख़्तार ने फिर निकाह कर लिया है, मामला राजस्थान के नागोरे जिले का है जहाँ पर मजहबी जनसँख्या अब काफी तेजी से बढ़ रही है

मेड़ता सिटी में 66 साल के मुख़्तार ने 55 साल की आमना से निकाह किया है, इस मुख़्तार के पहले से 14 बच्चे है, इतना ही नहीं इसके तो 49 पोते नाती है, मुख़्तार की उम्र 66 साल है और इसकी पहली पत्नी की मृत्यु हो चुकी है, उस पत्नी से मुख़्तार ने 14 बच्चे किये थे

मुख़्तार का कहना है की वो अपनी पहली पत्नी के मरने के बाद काफी दुःख में था, और इसी दुःख से निकलने के लिए उसने 55 साल की आमना से फिर निकाह किया है, इस शादी को लेकर सोशल मीडिया पर अब तरह तरह की चर्चा है