कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने पवित्र हिन्दू ग्रन्थ भगवद गीता का किया अपमान, आपत्तिजनक बात कही

कांग्रेस नेता और देश के महंगे वकीलों में शामिल अभिषेक मनु सिंघवी ने पवित्र हिन्दू ग्रन्थ भगवद गीता का अपमान कर दिया, जिसके बाद लोगो ने इसका कड़ा विरोध किया

Abhishek Manu Singhvi Insults Hindu text Bhagwad Gita

अभिषेक मनु सिंघवी भीमराव आंबेडकर पर अपनी बात कह रहे थे, इसी को कहते कहते उन्होंने भगवद गीता का अपमान किया और उसके बारे में झूठी बात फैलाई

लोगो ने इसका कड़ा विरोध भी किया, इसके बाबजूद अभिषेक मनु सिंघवी ने अपनी बात को वापस नहीं लिया, दरअसल भीमराव आंबेडकर की जयंती पर अभिषेक मनु सिंघवी उनकी तारीफ कर रहे थे

Abhishek Manu Singhvi Insults Hindu text Bhagwad Gita

इसी तारीफ को करने के लिए उन्होंने भगवद गीता को लेकर झूठ फैलाई और उसका अपमान किया

अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा की – कुरान कहती है मुसलमान बनो, बाइबल कहती है इसाई बनो, गीता कहती है हिन्दू बनो, पर आंबेडकर का संविधान कहता है की मनुष्य बनो

यहाँ आपको बता दें की – भगवद गीता में कहीं भी नहीं लिखा है की “आप हिन्दू बनो”, बाइबल और कुरान में तो उनके मजहब को अपनाकर इसाई और मुसलमान बनने के लिए लिखा हुआ है, पर भगवद गीता में कहीं भी हिन्दू बनने को नहीं कहा गया है

और असल में हिन्दू ग्रंथों में ही मनुष्य को “मनुष्य” बनने के लिए कहा गया है, पर अभिषेक मनु सिंघवी ने हिन्दू ग्रन्थ को भी बाइबल और कुरआन जैसा ही बता दिया, और उसका सरासर अपमान किया, लोगो ने उनके त्वीट का विरोध भी किया पर अभिषेक मनु सिंघवी ने इसे डिलीट नहीं किया