दुसरे धर्म की महिलाओं के बलात्कार की इज़ाज़त देता है अल्लाह : प्रोफेसर सउद सालेह

इन दिनों एक के बाद एक रेप की घटनाएं सामने आ रही है, और रेप को लेकर देश में काफी चर्चा है, इसी बीच एक मिस्त्र की एक बड़ी प्रोफेसर को लेकर भी सोशल मीडिया पर चर्चा चल रही है

मिस्त्र की मशहूर अल अजहर यूनिवर्सिटी की प्रोफेसर सउद सालेह ने इस्लाम के हवाले से  बताया है की अल्लाह दुसरे धर्म की महिलाओं से बलात्कार की इज़ाज़त देता है

मेमरी टीवी ने प्रोफेसर सउद सालेह के बयान को रिकॉर्ड किया है और ये बयान वायरल है, जिसमे प्रोफेसर सउद सालेह दुसरे धर्म की महिलाओं के बलात्कार को जायज बता रही है

प्रोफेसर सउद सालेह ने कहा की – दुसरे धर्म की महिलाओं से अगर बलात्कार कर लिया जाता है तो इसमें अपराध जैसा कुछ नहीं है, ये जायज है, और अल्लाह दुसरे धर्म की महिलाओं से बलात्कार की इज़ाज़त देता है

प्रोफेसर सउद सालेह ने ये भी कहा की – एक मुसलमान दुसरे धर्म की महिलाओं से बलात्कार कर दुसरे धर्म के लोगो को सबक सिखा सकता है और ऐसा करने का अधिकार मुसलमानों को अल्लाह ने दिया है

साथ ही प्रोफेसर सउद सालेह ने ये भी कहा की – मुस्लिम चाहे तो दुसरे धर्म की महिलाओं को अपना गुलाम बना सकते है, ऐसा करना अधिकार है और गुलाम बनाई गयी महिलाओं से बलात्कार का पूरा हक़ है

प्रोफेसर सउद सालेह के बयान को लेकर फिर एक बार चर्चा शुरू हो गयी है की जो इन दिनों बलात्कार की घटनाएं हो रही है, उसके पीछे क्या मजहबी मानसिकता है, क्यूंकि निशाने पर दुसरे धर्मो की बच्चियां और महिलाएं ही ही है