केजरीवाल जैसे घटिया नेता देश पर बोझ – गरीब पुरुष देगा फुल किराया, अमीर मैडम फ्री में चलेंगी

पहली चीज तो ये है की कोई भी चीज फ्री में नहीं होती, कुछ फ्री नहीं होता, अगर आपको कुछ फ्री मुफ्त मिल रहा है, तो फिर समझ लीजिये की उसका भुगतान किसी और ने किया है, किसी ने तो किया ही है

आज दिल्ली के मुख्यमंत्री जो की स्वयं को दिल्ली का मालकिन भी बताते है, केजरीवाल ने ऐलान किया है की दिल्ली में मेट्रो और बसों में सभी महिलाओं को मुफ्त यात्रा मिलेगी

वैसे ये योजना कब लागू होगी नहीं होगी ये साफ़ नहीं है, पर दिल्ली में अगले साल विधानसभा चुनाव है, केजरीवाल पर खुद की जमानत बचाने का भी संकट है इसलिए अब केजरीवाल दिल्ली वालो के लिए काम करने को लेकर एक्टिव है

पहले LG फाइल रोक रहे थे पर अब केजरीवाल को LG नहीं रोक रहे, खैर सब जानते है की ये सब विधानसभा चुनाव के लिए है और लोकसभा चुनाव में जो हालत दिल्ली में केजरीवाल की हुई है, खुद नयी दिल्ली विधानसभा सीट पर जहाँ से केजरीवाल चुनाव लड़ते है, आम आदमी पार्टी की जमानत जप्त हुई है

अब आज का बड़ा ऐलान की महिलाओं को मेट्रो और बसों में फ्री यात्रा मिलेगी, ये एक घटिया, इंसानियत विरोधी, गरीब विरोधी और देशद्रोही फैसला है, ये देश के लिए घातक है इसलिए देश द्रोही है

  • कहने को महिला पुरुष में कोई भेद नहीं, महिलाओं को पुरुष के बराबर दर्जा मिलना चाहिए, तो ये किस प्रकार की स्कीम हुई की गरीब से गरीब पुरुष तो टिकेट लेगा पर अमीर से अमीर महिला भी फ्री में चलेगी, ये तो लिंग के आधार पर भेदभाव है
  • एक बिचारा गरीब मजदुर जो की पुरुष होगा, गरीब पुरुष जो 100-200 दिन के कमाता है ऐसे दिल्ली में लाखों है, वो मेट्रो का फुल किराया देगा पर IPHONE लेकर चलने वाली मैडम लोग मुफ्त में चलेंगी, ये किस प्रकार की स्कीम है
  • दिल्ली में क्या सभी महिलाएं गरीब है ? मेट्रो से चलने वाली अधिकतर महिलाएं गरीब नहीं है, अगर गरीब महिलायों के लिए, BPL वाली महिलाओं के लिए फ्री यात्रा की जाती तो समझ में आता है, महंगा फ़ोन, महंगा मेकअप, पिज़्ज़ा बर्गर खाने वाली महिलाओं के लिए फ्री यात्रा किसके पैसे से होगी
  • महिलाओं को फ्री में यात्रा केजरीवाल करवाएंगे, तो उसका पैसा कौन देगा क्या केजरीवाल अपने जेब से देगा, पैसा तो जनता के टैक्स का है, फ्री यात्रा का बोझ कौन सहेगा ?
  • इस तरह की घटिया स्कीम से देश की इकॉनमी पर बोझ पड़ता है, देश की इकॉनमी बर्बाद होती है, मुफ्तखोरी ने कई देश बर्बाद किये है कई बड़े उदाहरण है जैसे की जिम्बाबे, वेनेज़ुएला, भारत को भी इस तरह के घटिया स्कीम से नेता बर्बाद कर देने पर उतारू है, ये तो देश द्रोह है

केजरीवाल जैसे घटिया नेता महिला पुरुष में भेद बढ़ा रहे है, इस तरह के घटिया फैसलों से दिल्ली और देश की इकॉनमी बर्बाद होगी, और ये एक सामाजिक अन्याय भी है, क्यूंकि गरीब से गरीब पुरुष, मजदुर फुल किराया देगा पर अमीर से अमीर मैडम लोग फ्री में चलेंगी, ये तो बकवास है और केजरीवाल जैसे नेता देश पर बोझ है