बिग – JK में विधानसभा की सीटों के बंटवारे पर सरकार कर रही कार्य, जम्मू में अधिक सीटें बनाने की तैयारी, बनेगा हिन्दू CM

आप ठीक से नहीं जानते तो आपको बता दें की जम्मू कश्मीर राज्य में 3 डिवीज़न है, पहला कश्मीर, दूसरा जम्मू और तीसरा लद्दाख, लद्दाख डिवीज़न को 2018 में मोदी सरकार ने ही बनाया था

जम्मू कश्मीर राज्य में सबसे बड़ा इलाका लद्दाख का है, फिर जम्मू का है और कश्मीर सबसे छोटा है, कश्मीर सिर्फ 4 जिलों का इलाका है पर पुरे जम्मू कश्मीर पर कश्मीरी मुस्लिमो ने कबका किया हुआ है

ये नेहरु और कांग्रेस की बदौलत हुआ है, क्यूंकि कश्मीर में विधानसभा की ज्यादा सीटें बनाई हुई है, वहां पर लगभग 100% मुस्लिम आबादी है, इसी कारण जम्मू कश्मीर राज्य की राजनीती पर हमेशा से कश्मीरी मुस्लिमो का दबदबा रहा है

जबकि सच ये है की जम्मू कश्मीर राज्य में जम्मू ज्यादा बड़ा इलाका है, जनसँख्या भी जम्मू में ही ज्यादा है, जम्मू में 65% के आसपास हिन्दू है और 35% के आसपास मुसलमान, जबकि कश्मीर में 100% मुसलमान है

लोकसभा चुनाव ख़त्म हो गए है, और आज अगर जम्मू कश्मीर में विधानसभा के चुनाव करवाए जाये तो फिर से जम्मू कश्मीर पर अब्दुल्ला या मुफ़्ती जैसे किसी का कब्ज़ा होगा, अमित शाह अब देश के गृहमंत्री है और सरकार ने संकेत दे दिए है की वो अब कुछ बड़ा करने वाली है

आर्टिकल 35A और 370 को हटाना सरकार के घोषणापत्र में है, पर सरकार उस से पहले जम्मू कश्मीर राज्य में विधानसभा की सीटों के बंटवारे पर काम करना चाहती है

जानकारी के अनुसार नए गृह मंत्री अमित शाह जम्मू कश्मीर पर काम कर रहे है, जम्मू डिवीज़न में अधिक विधानसभा सीटों के निर्माण का कार्य हो रहा है, आबादी भी जम्मू की ज्यादा है, और इलाका भी जम्मू का ही बड़ा है पर कश्मीर में अधिक विधानसभा की सीटें है

पर नयी सरकार चाहती है की जम्मू में विधानसभा की ज्यादा सीटें हो, इस से जम्मू कश्मीर में एक राष्ट्रवादी मुख्यमंत्री बन सकेगा और आर्टिकल 35A और 370 को फिर हटाने में आसानी होगी, कुछ ही समय में सरकार ये कार्य करने वाली है और इसका विरोध किया जाना भी लाजमी ही है, पर देश में मजबूत सरकार है जो ये कार्य करके ही रहेगी