करीमनगर में जय श्री राम न बोलने पर पीटा गया मुस्लिम लड़के को, FAKE NEWS साबित हुई ये घटना भी

23 मई के बाद अचानक से ही कई खबरें सामने आई, इन ख़बरों को मुस्लिम, सेकुलरों, वामपंथियों ने मिलकर फैलाया, पर तमाम मामलों का सच भी अब सामने आ चूका है

पहले खबर फैलाई गयी की गुरुग्राम में एक मुस्लिम लड़के को पीटा गया क्यूंकि उसने जय श्री राम नहीं बोला, उसकी टोपी उछाल दी गयी, शर्ट फाड़ दिया गया

ये मामला फेक न्यूज़ साबित हुआ, मुस्लिम लड़का झूठा निकला, दूसरी तरह बेगुसराय में भी मुस्लिम होने पर ऑटो वाले पर हमला हो गया, ये खबर भी फेक न्यूज़ साबित हुई

इसके अलावा तेलंगाना के करीमनगर की एक घटना भी फैलाई गयी, बताया गया की एक मुस्लिम लड़के को पीटा गया क्यूंकि उसने जय श्री राम नहीं कहा

इस मुस्लिम लड़ने ने ही इस झूठ को बोला और कहा की मुझे आरएसएस के लोगो ने पीटा, सेकुलरों ने भी करीमनगर वाली इस घटना को बहुत फैलाया, अब इसका सच सुनिय

जब पुलिस ने जांच करी और इस मुस्लिम लड़के से पूछताछ की तो इसने स्वीकार कर लिया की इसने झूठ बोला था, लड़ाई इसके पर्सनल मामले को लेकर हुई थी, इसमें कम्युनल जैसा कुछ नहीं था

इसे न ही किसी ने जय श्री राम न कहने पर मारा न ही इसपर किसी हिन्दू ने कभी हमला ही किया, ये खुद स्वीकार कर चूका है इस बात को, करीमनगर की घटना भी झूठी साबित हुई

23 मई के बाद से ही अचानक से इस तरह की घटनाओं की बाढ़ सी फैलाई जा रही है और हर घटना झूठी निकल रही है, इस्लामिक उन्मादी और सेक्युलर मिलकर हिन्दुओ के खिलाफ झूठ और नफरत फ़ैलाने के लिए दिन रात काम कर रहे है साजिश रच रहे है