सिद्धू की छुट्टी ! अमरिंदर ने सिद्धू के बिना की कैबिनेट मीटिंग, दूसरी तरफ सिद्धू ने मचाई रुदाली

अब संकेत मिल गए है की पंजाब के मंत्रिमंडल से नवजोत सिंह सिद्धू की छुट्टी हो गयी है, अभी वैसे आधिकारिक ऐलान नहीं हुआ है पर घटनाक्रम से काफी कुछ साफ़ हुआ है

23 मई को लोकसभा चुनाव के नतीजे के बाद पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने सिद्धू पर हार का ठीकरा, कांग्रेस का बंटाधार करने का ठीकरा फोड़ा था, सिद्धू द्वारा देश के खिलाफ की गयी हरकतों की आलोचना की थी

सिद्धू ने कांग्रेस के लिए पुरे देश में चुनाव प्रचार किया था, और बड़ी बात ये की जिस जिस सीट पर सिद्धू ने प्रचार किया था वो सभी की सभी सीटें कांग्रेस हार गयी, सिद्धू ने भोपाल और अमेठी में भी चुनाव प्रचार किया था, दिग्विजय सिंह और राहुल गाँधी दोनों हार गए

आज 6 जून को पंजाब में अमरिंदर सिंह ने अपनी फुल कैबिनेट मीटिंग की और इस कैबिनेट मीटिंग की तस्वीर भी अमरिंदर सिंह ने अपने आधिकारिक प्रोफाइल से डाली

इस कैबिनेट मीटिंग की खास बात ये रही की सारे मंत्री वहां मौजूद रहे, पर सिद्धू को इस कैबिनेट मीटिंग में नहीं बुलाया गया, सिद्धू कैबिनेट मीटिंग से बाहर कर दिए गए

दूसरी ओर आज ही सिद्धू ने कई दिनों की चुप्पी तोड़ी, और वो मीडिया के सामने आये और उन्होंने मीडिया के सामने आकर रुदाली कर दी

सिद्धू ने झूठ बोलते हुए कहा की – मैं तो एक परफ़ॉर्मर हु, मुझे पंजाब में 2 सीटों की जिम्मेदारी दी थी, दोनों सीटें जीते है हम, वैसे सच ये है की सिद्धू ने जहाँ जहाँ प्रचार किया था सभी सीटें कांग्रेस हारी है, पर आज सिद्धू ने फिर झूठ बोला

इसके अलावा सिद्धू ने ये भी कहा की – हार की जिम्मेदारी तो सबको लेनी चाहिए, सिर्फ मुझे ही क्यों, साथ ही सिद्धू ने ये भी कहा की मैं तो सिर्फ जनता के प्रति जवाबदेह हु, सिद्धू ने रुदाली करते हुए कह दिया की वो मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह के प्रति जवाबदेह नहीं है

दूसरी तरफ अमरिंदर सिंह ने सिद्धू के बिना ही कैबिनेट की मीटिंग की, साफ़ होता है की अब पंजाब के मंत्रिमंडल से सिद्धू की छुट्टी होनी तय है, और कदाचित ये हो भी चूका है, बस औपचारिक ऐलान ही बाकी है, ऐसा भी माना जा रहा है की अमरिंदर सिंह औपचारिक ऐलान नहीं करना चाहते, वो चाहते है की सिद्धू खुद ही इस्तीफा दे दे, पर सिद्धू इस्तीफा नहीं दे रहे

वैसे सिद्धू ने खुलकर चुनाव के दौरान कहा था की – अमेठी में राहुल गाँधी चुनाव हार गए तो मैं राजनीती से हमेशा हमेशा के लिए संन्यास ले लूँगा, सिद्धू ने अपनी जबान पर अबतक अमल नहीं किया है, वो एक झूठे इन्सान है ये पूरी दुनिया समझ चुकी है