अब कानपुर में मौलवी मोहम्मद जावेद ने नाबालिग का कई कई बार किया बलात्कार, मुह दबाकर, जान से मारने की धमकियाँ

अलीगढ, बाराबांकी, मेरठ, बरेली, जमुई, बनारस, जोधपुर इत्यादि के बाद अब कानपुर से फिर वैसी ही घटना सामने आ रही है, इन घटनाओं को अब साधारण बलात्कार की घटनाएं कहना गलत ही होगा

अब ये रेप जिहाद का स्वरुप ले चूका है, और रेप जिहाद बच्चियों के खिलाफ छेड़ सा दिया गया है, अब कानपुर में एक मौलवी ने जो की कुरआन पढ़ाने का काम करता है, उसने एक नाबालिग का कई कई बार बलात्कार किया है

मुह दबाकर, जान से मारने की धमकियाँ देकर मौलवी मोहम्मद जावेद ने बच्ची का बलात्कार किया है, इसने बच्ची को अपने बलात्कार का सामान ही बना डाला था, बच्ची सहम कर अपना बलात्कार करवाए जा रही थी, और मोहम्मद जावेद उसे दिन प्रति दिन और ज्यादा नोचे जा रहा था

बच्ची से सहन नहीं हुआ तो उसने मुह खोल ही दिया और ये मामला फिर पुलिस के सामने आया

घटना कानपुर के मछरिया इलाके की है, जहाँ पर एक मदरसे में मौलवी मोहम्मद जावेद कुरआन पढ़ाने का कार्य कर रहा था

इस मौलवी के खिलाफ पोस्को और अन्य धाराओं में अब मामला दर्ज किया गया है, हर घटना की तरह सेक्युलर वर्ग इस घटना पर भी बिलकुल मौन धारण किये हुए है, जबकि अब रेप जिहाद चरम पर पहुँच गया है

मुस्लिम पुलिस इंस्पेक्टर ने कानपुर में हिन्दू संगठन से जुड़े युवक को गाडी से कुचलकर मार डाला

हर तरफ आतंक फैलाया हुआ है, कहने को उन्मादी खौफ में रहते है, पर असल में खौफ इन्ही उन्मादियों ने मचाया हुआ है, एक बड़ी घटना कानपुर से सामने आ रही है जिसे मीडिया ने दबाने का पूरा प्रयास किया है

कानपुर में एक हिन्दू युवक को एक मुस्लिम पुलिस इंस्पेक्टर ने मार डाला है, इस घटना को लोकल अख़बार ने छापा है, रजत कुमार वर्मा नाम के हिन्दू युवक को गाडी से कुचलकर मार डाला गया है

रजत अपने घर का एकलौता लड़का था, उसकी 7 बहने है, रजत के परिवार में कोहराम मचा हुआ है, रजत कुमार वर्मा बजरंगदल से जुड़ा हुआ है जो की एक हिन्दू संगठन है

रजत कुमार वर्मा को मोहम्मद जाकिर हुसैन नाम के मुस्लिम इंस्पेक्टर ने गाड़ी से कुचलकर मारा है, जाकिर हुसैन को अब पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है

इस घटना को मीडिया ने दबाने का पूरा प्रयास किया है, सिर्फ कुछ लोकल अख़बारों ने ही इस खबर को जगह दी है, पर सोशल मीडिया पर ये खबर वायरल हो चुकी है, फिर भी बेशर्म मीडिया इस घटना को दबा रही है

रजत कुमार वर्मा को सिर्फ इसलिए कुचलकर मार दिया गया क्यूंकि वो एक हिन्दू कार्यकर्त्ता था, रजत का पूरा परिवार सदमे में है, रजत कुमार वर्मा सिर्फ 26 साल का था और उसके विवाह की बातें चल रही थी, उसके परिवार में कमाने वाला भी वो एकलौता ही था, अब पूरा परिवार संकट में पहुँच गया है