बेगुसराय में हॉरर, 3 मुस्लिम हिन्दू घर में घुस आये, 1 पूरा नंगा और 2 हथियार से लैस, करने लगे महिलाओं से रेप

बिहार के बेगुसराय जिसकी लोकसभा चुनाव के दौरान काफी चर्चा थी, वहां से एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आ रही है, जहाँ हिन्दू समाज की महिला के घर में 3 मुस्लिम शख्स जबरन घुस आये

मामला बेगुसराय के नूरपुर इलाके का है जहाँ अपर 1 घर है जिसमे हिन्दू समाज के लोग रहते है, 10 जून की रात को 1 बजे इस घर का दरवाजा जोर जोर से पीटा गया

जब अन्दर से दरवाजा खोला गया तो सामने खड़े थे 3 शख्स, जिसमे से 2 के पास बन्दुक और हथियार थे, जबकि 1 शख्स पूरी तरह से नंगा था, तीनो ने घर में घुसते ही घर में मौजूद अकेले पुरुष व्यक्ति के माथे पर बन्दुक रख दिया

और उसमे से 1 जो नंगा था वो उसकी माता का बलात्कार करने लगा, घर में हिन्दू लड़के की बहन भी थी, उसके भी बलात्कार की कोशिश की जाने लगी, फिर बलात्कार से बचने के लिए महिलाओं ने शोर मचाया तो तीनो बदमाश भाग गए

इनमे से 1 का नाम लड्डू आलम है जो की फिरोज आलम का बेटा है, वहीँ 2 अज्ञात है पर उसकी के मजहब के लोग है, पीड़ित युवक और उसके परिवार ने अपने साथ हुई घटना का वर्णन किया है, जिसे आप सुन सकते है

पीड़ित परिवार ने बताया है की – घर में घुसते ही उन लोगो ने महिला और उसकी बेटी का बलात्कार करना शुरू कर दिया, और धमकी दी की तुम लोग जल्दी से जल्दी इस घर को छोड़ कर भाग जाओ

बदमाशो ने ये भी धमकी दी की, यहाँ पर तुम हिन्दू अब कम हो चुके हो, तुम लोगो की अब बजरंग दल वाले भी मदद नहीं कर सकते, अगर तुम लोग जल्दी ये घर छोड़कर नहीं भागते तो फिर तुमको मार दिया जायेगा

पीड़ित परिवार सदमे में है, वहीँ इस मामले में पुलिस ने अबतक क्या कार्यवाही की है ये साफ़ नहीं है, मामला नूरपुर का है जहाँ पर हिन्दू समाज के लोग अल्पसंख्यक हो चुके है, और बताया जा रहा है की जिस इलाके में ये वारदात हुई है वहां पर हिन्दुओ के सिर्फ कुछ ही घर शेष है

भरतपुर में हॉरर, शाहरुख़ ने 6 के साथ मिलकर उठा ली महिला, बेहोश होने तक किया उसका बलात्कार

एक के बाद एक और वो भी रोजाना ऐसी घटनाएं सामने आ रही है जो की फर्जी सेकुलरिज्म को तार तार कर रही है, क्या अलीगढ, क्या मेरठ, बरेली, जमुई हर जगह एक जैसी ही घटनाएं

अब नया मामला राजस्थान के भरतपुर का है जहाँ पर 1 महिला को शाहरुख़ और उसके 6 साथियों ने जबरन उठा लिया और उसे अपनी बोलेरो में कैद कर सुनसान जगह पर ले गए

सभी 7 उन्मादियों ने महिला का तबतक गैंगरेप किया जबतक महिला बेहोश न हो गयी, महिला कई घंटों तक खुद को छोड़ दिए जाने के लिए चिल्लाती रही, गुहार लगाती रही पर शाहरुख़ और उसके 6 साथियों ने हंस हंस कर महिला का बलात्कार किया

दरिंदो के नाम कुछ इस प्रकार है, शाहरुख़, जावेद, ताहिर, मोहम्मद अली, सालिम, निसार, इरशाद, इन सबने महिला का गैंगरेप किया जब वो बेहोश हो गयी तो उसे उठाकर जंगल में छोड़कर भाग गए

घटना भरतपुर जिले के सिकरी इलाके में पड़ने वाले रुस्तमपुर गाँव की है, ह्जहाँ पर महिला अपने ननिहाल में आई थी, मजहबी उन्मादियों की उसपर नजर पड़ी और हैवानियत की सारी हदों को पार कर दिया गया

इस मामले की शिकायत पुलिस से की जा चुकी है, महिला को उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती करवाया गया है, अधिकतर मामलों की तरह इस मामले पर भी सेक्युलर वर्ग के लोग खामोश बैठे हुए है

अब बेगुसराय में हिन्दू महिला के घर में 3 मजहबी घुसकर करने लगे रेप, महिला की बेटी को भी शिकार बनाने के लिए हमला

रेप जिहाद की रोजाना बढती घटनाओं पर मीडिया और बुद्धिजीवी वर्ग की चुप्पी चिंताजनक है, देश को अब रेप जिहाद पर डिबेट करना ही होगा क्यूंकि अब ये भयानक स्वरुप ले रहा है

अब नया मामला बेगुसराय से आया है जहाँ पर मजहबी उन्मादियों की संख्या काफी बढ़ रही है, बेगुसराय के नूरपुर इलाके के एक हिन्दू घर में महिला और उसकी बेटी अकेले थी

मजहबी उन्मादियों ने महिला का दरवाजा खटखटाया, महिला ने दरवाजा खोला तो तीनो उसपर रेप करने के लिए टूट पड़े, मजहबी उन्मादियों ने घर के अन्दर महिला की बेटी को भी देखा, तीनो ने उसे भी दबोच लिया

हिन्दू महिला और उसकी बेटी का तीनो मजहबी उन्मादी बलात्कार करने की कोशिश करने लगे, पर महिला ने साहस दिखाते हुए पुरजोर विरोध किया, और जोर जोर से शोर मचाने लगी

मजहबी उन्मादी महिला और उसकी बेटी पर पूरी तरह काबू नहीं कर सके और फिर भाग खड़े हुए, इस घटना को महिला ने रो रोकर बताया

कुल 3 मजहबी उन्मादी थे जिन्होंने इस हिन्दू घर पर हमला कर दिया, सुदर्शन न्यूज़ के पत्रकार गौरव मिश्रा ने बताया की इस इलाके में मजहबी उन्मादियों की संख्या अब काफी बढ़ चुकी है और जैसे ही उनकी संख्या में इजाफा हो चूका है, वहां इस तरह की वारदात होने लगी है

मेरठ के लोग हाफिज को समझते थे नेक, क्यूंकि ये है एक मौलाना, बच्ची का कर दिया इसने अब रेप, लहूलुहान कर अधमरा किया

मेरठ एक बार फिर लहूलुहान हो उठी, और एक बार फिर बलात्कार की वजह से लहूलुहान हुई, मेरठ में फिर एक बच्ची को एक उन्मादी ने शिकार बना दिया

मेरठ में एक मौलाना ने 12 साल की बच्ची को जबरन उठाया और मुह दबाकर उसका बेरहमी से बलात्कार किया, मौलाना हाफिज सईद ने बच्ची को पूरी तरह से लहूलुहान कर अधमरा कर दिया और मारा पीटा भी

साथ ही मौलाना ने उसे किसी को बताने की सूरत में जान से मारने की धमकियाँ भी दी, पर बच्ची ने अपने साथ हुई हैवानियत के बारे में लोगो को जानकारी दे दी और इस मौलाना को अब गिरफ्तार कर लिया गया है

ये घटना मेरठ के खेरी कलान गाँव में हुई, जहाँ पर मजहबी जनसँख्या बहुसंख्यक हो चुकी है, इस से पहले भी मेरठ से इसी तरह एक बच्ची के बलात्कार की खबर ने सबको आक्रोशित कर दिया था

अब फिर एक बार एक बच्ची को शिकार बना दिया गया, दूसरी तरफ जिस शख्स ने बच्ची को हैवानियत का शिकार बनाया है इसे मेरठ के लोग एक नेक बंदा समझते थे, क्यूंकि ये एक मौलाना भी है, लोग इसे अल्लाह की इबादत करने वाला सच्चा इन्सान समझकर चल रहे थे, पर इसने मौका मिलते ही अपना असल रंग दिखा कर एक बच्ची का शिकार कर दिया

अब कानपुर में मौलवी मोहम्मद जावेद ने नाबालिग का कई कई बार किया बलात्कार, मुह दबाकर, जान से मारने की धमकियाँ

अलीगढ, बाराबांकी, मेरठ, बरेली, जमुई, बनारस, जोधपुर इत्यादि के बाद अब कानपुर से फिर वैसी ही घटना सामने आ रही है, इन घटनाओं को अब साधारण बलात्कार की घटनाएं कहना गलत ही होगा

अब ये रेप जिहाद का स्वरुप ले चूका है, और रेप जिहाद बच्चियों के खिलाफ छेड़ सा दिया गया है, अब कानपुर में एक मौलवी ने जो की कुरआन पढ़ाने का काम करता है, उसने एक नाबालिग का कई कई बार बलात्कार किया है

मुह दबाकर, जान से मारने की धमकियाँ देकर मौलवी मोहम्मद जावेद ने बच्ची का बलात्कार किया है, इसने बच्ची को अपने बलात्कार का सामान ही बना डाला था, बच्ची सहम कर अपना बलात्कार करवाए जा रही थी, और मोहम्मद जावेद उसे दिन प्रति दिन और ज्यादा नोचे जा रहा था

बच्ची से सहन नहीं हुआ तो उसने मुह खोल ही दिया और ये मामला फिर पुलिस के सामने आया

घटना कानपुर के मछरिया इलाके की है, जहाँ पर एक मदरसे में मौलवी मोहम्मद जावेद कुरआन पढ़ाने का कार्य कर रहा था

इस मौलवी के खिलाफ पोस्को और अन्य धाराओं में अब मामला दर्ज किया गया है, हर घटना की तरह सेक्युलर वर्ग इस घटना पर भी बिलकुल मौन धारण किये हुए है, जबकि अब रेप जिहाद चरम पर पहुँच गया है

दुसरे धर्म की महिलाओं के बलात्कार की इज़ाज़त देता है अल्लाह : प्रोफेसर सउद सालेह

इन दिनों एक के बाद एक रेप की घटनाएं सामने आ रही है, और रेप को लेकर देश में काफी चर्चा है, इसी बीच एक मिस्त्र की एक बड़ी प्रोफेसर को लेकर भी सोशल मीडिया पर चर्चा चल रही है

मिस्त्र की मशहूर अल अजहर यूनिवर्सिटी की प्रोफेसर सउद सालेह ने इस्लाम के हवाले से  बताया है की अल्लाह दुसरे धर्म की महिलाओं से बलात्कार की इज़ाज़त देता है

मेमरी टीवी ने प्रोफेसर सउद सालेह के बयान को रिकॉर्ड किया है और ये बयान वायरल है, जिसमे प्रोफेसर सउद सालेह दुसरे धर्म की महिलाओं के बलात्कार को जायज बता रही है

प्रोफेसर सउद सालेह ने कहा की – दुसरे धर्म की महिलाओं से अगर बलात्कार कर लिया जाता है तो इसमें अपराध जैसा कुछ नहीं है, ये जायज है, और अल्लाह दुसरे धर्म की महिलाओं से बलात्कार की इज़ाज़त देता है

प्रोफेसर सउद सालेह ने ये भी कहा की – एक मुसलमान दुसरे धर्म की महिलाओं से बलात्कार कर दुसरे धर्म के लोगो को सबक सिखा सकता है और ऐसा करने का अधिकार मुसलमानों को अल्लाह ने दिया है

साथ ही प्रोफेसर सउद सालेह ने ये भी कहा की – मुस्लिम चाहे तो दुसरे धर्म की महिलाओं को अपना गुलाम बना सकते है, ऐसा करना अधिकार है और गुलाम बनाई गयी महिलाओं से बलात्कार का पूरा हक़ है

प्रोफेसर सउद सालेह के बयान को लेकर फिर एक बार चर्चा शुरू हो गयी है की जो इन दिनों बलात्कार की घटनाएं हो रही है, उसके पीछे क्या मजहबी मानसिकता है, क्यूंकि निशाने पर दुसरे धर्मो की बच्चियां और महिलाएं ही ही है

 

 

 

अब मेरठ में मोहम्मद शादाब ने 9 साल की बच्ची को मारकर नाले में फेंक दिया, रेप कर रहा था, रो दी बच्ची इसलिए मार दिया

एक के बाद एक रेप जिहाद की घटनाएं सामने आती जा रही है और हर मामले में मजहबी उन्मादियों की हैवानियत इंसानियत को झंकझोर देने वाली है

जिस तरह से बच्चियों का मजहबी उन्मादी शिकार कर रहे है इस से ये इन्सान है इसमें भी अब शंका होने लगी है, अलीगढ की ट्विंकल शर्मा के बाद बाराबंकी में एक हिन्दू लड़की का मजहबी उन्मादी ने शिकार किया

उसके बाद जमुई से भी एक ऐसी ही खबर आई और फिर बरेली से भी एक ऐसी ही खबर आई, और अब मेरठ से भी एक ऐसी ही खबर सामने आ रही है

मामला मेरठ के खरखौदा थाना क्षेत्र के ब्रह्मपुरी इलाके का है, जहाँ पर एक व्यापारी की 9 साल की बेटी को मोहम्मद शादाब ने उठा लिया

बच्ची रात को 9 बजे अपने घर से निकली थी, वो पड़ोस की एक दूकान पर कुछ खरीदने के लिए निकली थी की मोहम्मद शादाब की उसपर नजर पड़ गयी

मोहम्मद शादाब ने उसे उठा लिया और फिर एक खास जगह पर ले जाकर उसके साथ रेप करने लगा, पर बच्ची ने ने मौका पाते ही रोना शुरू कर दिया, जिसके बाद शादाब को गुस्सा आ गया, उसने गला दबाकर बच्ची की हत्या कर दी और उसकी लाश को बोर में करके नाले में फेंक दिया

बच्ची का शव मिलने के बाद पुलिस ने इस मामले में जांच शुरू की तो जल्द ही मोहम्मद शराब को गिरफ्तार कर लिया गया

पर इस मामले ने भी रेप जिहाद के विषय पर अब देश को सोचने के लिए मजबूर कर दिया है, हालाँकि सेक्युलर समाज इन तमाम घटनाओं पर बिलकुल मौन व्रत रखे हुए है, और मीडिया हर घटना को दबाने का पूरा प्रयास भी कर रही है