ईद पर कार चुराकर भाग रहा था शाहरुख़, पुलिस पकडती की नमाजियों ने कर दिया दंगा, आतंक और कोहराम

दिल्ली में ईद पर मुस्लिम भीड़ ने खुजेरी चौक इलाके में जबरजस्त दंगा किया, 5 जून को ईद थी और नमाज़ के इए नमाजियों की भीड़ जमा थी, इस भीड़ ने खुजेरी इलाके में आतंक मचा दिया

लाठी डंडो से दंगा किया, जबरजस्त तोड़फोड़ की, पब्लिक और प्राइवेट गाड़ियों को निशाना बनाया, संख्या बल दिखाकर आपस के लोगो में खौफ भर दिया और दिल्ली की सड़कों पर काफी देर तक आतंक का राज कायम कर दिया

घटना दिल्ली की है जो देश की राजधानी है, पर मीडिया ने इस घटना को पहले दबाने का प्रयास किया, सोशल मीडिया पर तमाम विडियो वायरल हो गए तो मीडिया का पूरा जमात दंगाइयों को बचाने के लिए फर्जी खबर चलाने लगा

मीडिया के जमात ने बताया की दंगा जायज था क्यूंकि नमाज़ के लिए आ रहे लोगो को एक हौंडा सिटी गाड़ी ने टक्कर मारी थी, इसलिए दंगा हुआ, मीडिया की जमात ने दंगाइयों को बेकसूर बताने का पूरा प्रयास किया पर अब इसका भी सच सामने आ रहा है

दिल्ली पुलिस ने जानकारी दी है की किसी भी नमाज़ी को किसी हौंडा सिटी गाड़ी ने टक्कर नहीं मारी थी, हुआ ये था की शाहरुख़ नाम का मजहबी ईद के दिन हौंडा सिटी गाड़ी को चुराकर भाग रहा था

वो पकड़ा न जाये इसलिए गाड़ी को तेजी से भागकर ले जा रहा था, रस्ते में नमाज़ी गुजर रहे थे, नमाज़ी तेज रफ़्तार गाड़ी से डर गए की टक्कर न मार दे, गाड़ी ने किसी को भी टक्कर नहीं मारी, पर नमाजियों ने ईद पर संख्या बल दिखाना शुरू कर दिया और जबरजस्त दंगा किया

अबतक न शाहरुख़ पकड़ा गया है और न ही दंगा कर रहा 1 भी आतंकी पकड़ा गया है, सेकुलरिज्म में मीडिया ने भी फर्जीवाडा और झूठ फैला दिया, और तमाम नेता भी खामोश रहना ही पसंद कर रहे है

पूरा दंगा नमाजियों द्वारा शक्ति प्रदर्शन के लिए किया गया, कार को शाहरुख़ नाम का चोर ईद पर चुराकर भाग रहा था, दंगा कर नमाजियों ने इलाके में खौफ का राज कायम किया और मीडिया ने पूरी घटना को फर्जी तरीके से पेश कर दबा दिया