40 हजार पाकिस्तानियों को देश से निकाल दिया सऊदी अरब सरकार! निराश इमरान खान

देश मे आतंकवाद के कारण पाकिस्तान पूरी दुनिया मे कुख्यात हो गया है। पाकिस्तानियो की आपराधिक प्रवृत्ति पूरी दुनिया मे एक अपराधी की नजर से देखी जाती है। इन कारणो के कारण, विदेशों मे काम करने वाले पाकिस्तानी नागरिको को भी देश से बाहर निकाल दिया जाता है। सऊदी अरब मे भी कुछ ऐसा ही हुआ है। जहा सऊदी प्रशासन ने अपने देश मे काम करने वाले लगभग 40,000 पाकिस्तानी नागरिको को निष्कासित कर दिया है। गौरतलब है कि सऊदी अरब मे पाकिस्तानियो को मादक पदार्थों की तस्करी, धोखाधड़ी, चोरी, आतंकवादी गतिविधियो और हमलो जैसे अपराधो मे शामिल पाया गया है। यही कारण है कि सऊदी अरब प्रशासन ने यह निर्णय लिया है।

सऊदी अरब मीडिया ने बताया कि आतरिक मामलो के मत्रालय मे एक शीर्ष अधिकारी ने कहा है कि सुरक्षा कारणो से पाकिस्तानियो को देश से बाहर निकाल दिया गया है। सऊदी अरब के इस कदम से पता चलता है कि पाकिस्तान की स्थिति मुस्लिम देशो मे भी बहुत खराब है। इससे पहले, सऊदी अरब के प्रशासन ने पाकिस्तान के डॉक्टरों को नकली घोषित किया और उन्हें छोड़ने का आदेश दिया। सऊदी स्वास्थ्य मत्रालय ने पाकिस्तान के मास्टर ऑफ सर्जरी और मास्टर ऑफ मेडिसिन की डिग्री की मान्यता को भी रद्द कर दिया है।

यदि हम सऊदी अरब के आंकड़ो पर विचार करते है, तो सऊदी अरब के प्रशासन ने 2012 और 2015 के बीच लगभग 2,43,000 पाकिस्तानी श्रमिको को देश से बाहर निकाल दिया। अब, निर्णय सऊदी प्रशासन के अपराध के ग्राफ मे पाकिस्तानी नागरिको की बढ़ती संख्या के परिणामस्वरूप किया गया है। अब दुनिया मे पाकिस्तानियो के सम्मान मे और गिरावट आई है। पाकिस्तानियो को किसी भी आपराधिक गतिविधि के लिए गिरफ्तार किया जा रहा है। क्योंकि कट्टरपंथी सभी असामाजिक गतिविधियो मे शामिल है।